ना जाने वो कैसी दिखती होगी ?

उफ़ुक़ के उस पार  वो जरूर कहीं रहती होगी,
ख़ुदा जाने या वो जाने, ना जाने कैसी दिखती होगी ?

मैं अक्सर  सोचता रहता हूं फकत उसके बारे में,
वो सूरज की किरण या रात सांवली सी दिखती होगी ।

मुझे मालूम है उसके भी होंगे बहुत  चाहने वाले,
मुनासिफ है उसकी नजर भी किसी पर टिकती होगी।

ये बेख्याल सा ख्याल सिर्फ मुझको ही आता है क्या ?
या वो भी मुझसे मिलने के लिए अक्सर सोचती होगी ?

मैं तेरी तलाश में जरूर निकलूंगा एक दिन,
यकीनन तुझसे मिलकर जिंदगी, जिदंगी सी लगती होगी।।
***आशीष रसीला***

Ashish Rasila

2 thoughts on “ना जाने वो कैसी दिखती होगी ?

Leave a Reply to Zoya_Ke_Jazbaat Cancel reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.